मेरी बिटिया

हर तरह के आंसुओ से,
मुद्दतो से पहचान थी
पर कैसे ख़ुशी से होती है आंखे नम,
वो तेरे आने के बाद जाना है

सूरज तो निकलता था पहले भी,
पर चांदी सी चमकती धूप
तेरे रुपहले चेहरे से भायी है

हर सवाल के पहले, अनेको बार … पापा पापा की खनक
कानो को कैसी भी लगे
आँखों में सदा एक नम ख़ुशी ही लायी है

वो तेरी छोटी सी मेकअप किट, चूडियां, वो टियारा
एल्सा, आना, रूपनज़ल की ड्रेसउप में इतराना
मन को भाता है बहुत

पर तेरी माँ के ऊंचे सैंडिल पहन ने की चाहते
जल्दी से बड़े होने की सारी ख्वाहिशे
उनसे तेरे पापा का मन कुछ घभराता है

फिर तेरी प्यारी सी मुस्कान
Papa don’t be sad
I will be always be with you forever का दिलासा
आँखों के किनारे, फिर एक नम सी ख़ुशी बन जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *