Monthly Archives: July 2006

ऐ हवा

ऐ हवा
मुझसे भी तो दो बाते करती जा

बैठा हूँ यहाँ ऐसे की
सिर्फ तुझसे ही बस मेरा मिलन हो

मुझ को यूँ छू कर जो गुजर रही है
एक पल को भी न ठहर रही है
Continue reading ऐ हवा